Mumbai University Final Year Exams: मुंबई यूनिवर्सिटी की फाइनल ईयर परीक्षाओं के आयोजन में कुछ आधारभूत बदलाव किए गए हैं. ये चेंजेस कोरोना और उसके कारण उपजे हालातों की वजह से हुए हैं. नये बदलावों में सबसे अहम है परीक्षा की ड्यूरेशन, जो घटाकर एक घंटे कर दी गई है. इसके अलावा दूसरा अहम बदलाव है टोटल मार्क्स का. अब यह परीक्षा केवल 50 अंक की होगी. इसके साथ ही स्टूडेंट्स को एक बड़ी छूट और दी जा रही है, जिसके अंतर्गत परीक्षा में केवल उतने सिलेबस से प्रश्न पूछे जाएंगे जितना सिलेबस 13 मार्च तक पूरा कर लिया गया था. यानी जिनती पढ़ाई हुई थी उतने से ही प्रश्न आएंगे. स्टूडेंट्स के लिए कोरोना काल में यह बड़ी राहत की बात है.

क्या कहा एकेडमिक काउंसिल ने –

काउंसिल मेंबर ने इस बारे में बात करते हुए कहा, “यह 40:60 पैटर्न का पालन करने वाले सभी स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों पर लागू होगा. परीक्षा 50 अंकों की होगी, और विश्वविद्यालय कई विकल्प प्रश्नावली देने का इच्छुक है. विभाग, हालांकि, परीक्षा आयोजित करने के लिए एक पैनल नियुक्त करने और प्रश्न पत्र बनाने की तैयारी शुरू करने के लिए एक परिपत्र का इंतजार कर रहे हैं.

दरअसल पहले तो महाराष्ट्र में परीक्षाएं पूरी तरह कैंसिल करने की मांग उठ रही थी और तो और महाराष्ट्र सरकार भी यूजीसी के निर्णय के बावजूद परीक्षाएं नहीं कराना चाहती थी. इसके पीछे कारण था कोरोना के बढ़ते मामले थे. सरकार का कहना था कि वर्तमान माहौल में परीक्षा कराना उचित नहीं होगा. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया जिसमें कहा गया कि किसी भी कॉलेज अथवा यूनिवर्सिटी के फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा के पास नहीं किया जाएगा. हालांकि परीक्षा कराने की डेडलाइन आगे बढ़ाने के विषय में कोर्ट ने राज्यों को राहत दी और कहा कि वे यूजीसी से संपर्क करके नई परीक्षा तारीख ले सकते हैं लेकिन किसी भी स्थिति में परीक्षा कराना आवश्यक है.

IBPS RRB प्री परीक्षा 2020 हुई स्थगित, नई तारीखों की घोषणा जल्द

जल्द रिलीज होगी JEE Main 2020 परीक्षा की आंसर की, ऐसे करें डाउनलोड


Source link