• Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Gayatri Gave 40 Plus Women The Opportunity To Share Their Experiences, Someone Said It Is Important To Be Selfish, So Someone Saying Goodness Does Not Always Work

4 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • हाल ही में ट्विटर यूजर गायत्री ने 40 महिलाओं को ट्विटर पर अपने विचार व्यक्त करने के लिए आमंत्रित किया
  • गायत्री ने अपने ट्विट के जरिये महिलाओं से पूछा ”40 साल की होने पर वो कौन सा सबक है जो आपने सीखा और आप उसे दूसरों के साथ शेयर करना चाहेंगी”

कई बार जो बातें हम क्लासरूम, सेमिनार या वर्कशॉप में रहते हुए नहीं सीख पाते, वे सभी हम उम्र बढ़ने के साथ-साथ अपने अनुभवों के आधार पर सीख जाते हैं।

हाल ही में ट्विटर यूजर गायत्री ने 40 प्लस महिलाओं को ट्विटर पर अपने विचार व्यक्त करने के लिए आमंत्रित किया। इनके जवाब आपको भी बहुत कुछ सीखा सकते हैं।

गायत्री ने अपने ट्विट के जरिये महिलाओं से पूछा ”40 साल की होने पर वो कौन सा सबक है जो आपने सीखा और आप उसे दूसरों के साथ शेयर करना चाहेंगी”। उन्होंने अपने अनुभव बांटते हुए लिखा – ”जो त्याग आप दूसरों के लिए करते हैं, उसकी कोई अहमियत नहीं होती। आखिर में इन कामों के लिए आपको ही जिम्मेदार ठहराया जाता है”।

40 की उम्र पार कर चुकीं महिलाओं ने इस विषय पर अलग-अलग तरह के रिएक्शन दिए। किसी ने कहां एक ऐसे भविष्य के लिए अपनी खुशी को कभी खत्म नहीं करना चाहिए जिसके बारे में आपको कुछ भी नहीं मालूम है। एक महिला ने सलाह दी स्वार्थी होना अच्छी बात है। इसी तरह के कुछ ट्विट यहां दिए जा रहे हैं जो जिंदगी के कई सबक लेने में आपकी मदद करेंगे।

सुभाषिनी कहती हैं अपनी पहचान पर ध्यान देने में देर नहीं हुई। अपने शौक को पहचानों। आप 50 या 60 की उम्र के कोने पर ही हैं। ऐसे में आप कमजोर हो जाएंगे और अकेलापन महसूस करेंगे। आपको कुछ करने की जरूरत है। जाओ, अपना रास्ता खोजो।

सिल्पा कार लिखती हैं – “ये मेरा 30 साल की उम्र से पहले का अनुभव है। कोई आपके समर्पण की कद्र नहीं करता। एक लड़की, जिसने 29 साल की उम्र में पति और बच्चों की खातिर जॉब छोड़ दी थी, उसे लगातार आज जॉब न होने के ताने सुनना पड़ते हैं। यहां तक कि नौबत तलाक पर आ गई”।

एक ट्विटर यूजर ने लिखा ”किसी पर भी, आंख मूंदकर भरोसा न करें। यह देखने की कोशिश करें कि उस मासूम नकाब के नीचे क्या है जो वह व्यक्ति आपके सामने पहने हुए है। वह आपके सामने इतनी मीठी आवाज में बातें कर रहा है। पहले मौके पर ही उसे बेनकाब कर दें। इससे पहले कि वह आपका शोषण करें”।

देबशी गुप्तु ने अपने ट्विट में लिखा “बाद में कभी नहीं हो सकता है। उन कामों को बाद के लिए न रखें जिन्हें आप अभी करना चाहते हैं। उन्हें अभी करें”।

किरण मनरल ने लिखा – “स्वार्थी बनिए और खुद को प्राथमिकता दीजिए क्योंकि यह काम कोई और नहीं करेगा”।

0




Source link