सुशांत सिंह राजपूत का विकीपीडिया कैसे हुआ अपडेट

सुशांत सिंह राजपूत का विकीपीडिया कैसे हुआ अपडेट

सोशल मीडिया पर फैंस लगातार ये सवाल उठा रहे हैं कि मौत वाले दिन यानी 14 जून को सुबह ही कैसे सुशांत का विकीपीडिया पेज अपेडट कर दिया गया था। जबकि सुसाइड की जानकारी पुलिस द्वारा दोपहर एक बजे के बाद दी गई थी।

फैंस की सीबीआई जांच की मांग

फैंस की सीबीआई जांच की मांग

इस तथ्य के बाद एक बार फिर फैंस सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। उनका मानना है कि इस सुसाइड के पीछे कोई कारण या दबाव हो सकता है।

साइबर सेल का क्या है कहना

साइबर सेल का क्या है कहना

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पुलिस की साइबर सेल के मुताबिक सुशांत सिंह राजपूत की विकीपीडिया पेज से कोई छेड़खानी नहीं हुई है। ऐसा इसीलिए क्योंकि वीकिपीडिया यूटीसी टाइमलाइन के जरिए चलता है। यानी ये भारतीय समय से करीब साढ़े पांच घंटे पीछे होता है। यही वजह है कि समय में ऐसा अंतर नजर आ रहा है।

क्या हुआ था उस सुबह

क्या हुआ था उस सुबह

मुंबई के किराए के फ्लैट पर सुशांत के साथ चार दोस्त भी थे। दो कुक, एक नौकर और दोस्त। सुबह साढ़े नौ बजे सुशांत अपने कमर से बाहर आए थे और उन्होंने जूस भी पीया था। इसके बाद वह अपने कमरे में चले गए थे। लेकिन फिर वह काफी देर तक न तो बाहर आए न ही कोई हलचल हुई। इसके बाद दोस्त व कुक ने चाबी वाले को बुलाया और कमरा खुलवाया तो देख तो सुशांत पंखे से लटके हैं। सभी लोगं हैरान रह गए और उन्होंने पुलिस को इस मामले में जानकारी दी गई।

पुलिस कर रही हर एंगल से जांच

पुलिस कर रही हर एंगल से जांच

पुलिस सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में हर एंगल से जांच कर रही है। परिवार से लेकर उनके दोस्तों व मैनेजर सभी से पूछताछ की जा रही है। उनके डिप्रेशन का कारण क्या था व वह काम को लेकर तो कोई तनाव नहीं था। इन सभी एंगल पर जांच की जा रही है।


Source link